facebookfacebookfacebookfacebookrss feed

Latest News
05 April 2016

किसान की दुर्दशा के लिए सरकारें जिम्मेदार : पूर्व सांसद जयंत चौधरी

Jayant Chaudhary

तितावी मिल पर धरने पर बैठे रालोद महासचिव जयंत चौधरी।

रालोद के राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व सांसद जयंत चौधरी ने कहा कि गन्ना भुगतान नहीं होने से किसान आत्महत्या कर रहा है। केंद्र और प्रदेश सरकार को किसानों की कोई चिंता नहीं है। छेड़छाड़ की घटनाओं पर तो मंत्री थाने जाकर बैठ जाते हैं, लेकिन किसानों के स्वाभिमान से हो रही छेड़छाड़ की किसी को कोई चिंता नहीं है।

तितावी चीनी मिल के बाहर चल रहे रालोद के धरनें में शामिल होने आए जयंत चौधरी ने पत्रकारों से वार्ता में केंद्र और प्रदेश सरकार पर जमकर भड़ास निकाली। उन्होंने कहा कि पश्चिम में किसानों की मुख्य नकदी फसल गन्ना है, गन्ने का भुगतान रुकते ही उसके सामने आर्थिक संकट पैदा हो जाता है। तितावी क्षेत्र के किसानों को बीते दो सालों का भुगतान नहीं हो पाया है।

किसान आर्थिक तंगी के कारण किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं। आत्महत्या की कई घटनाएं हो चुकी हैं, जिसके  लिए दोनों सरकारें जिम्मेदार हैं। किसान को लेकर सरकारों की नीतियां ढुलमुल हैं। जब दूसरे प्रदेशों में अधिक गन्ना मूल्य होने के बाद भी समय से भुगतान हो रहा है तो यहां भुगतान में देरी क्यों है। चीनी का मूल्य भी बढ़ गया है। चीनी मिल मालिक किसानों के पैसे पर ऐश कर रहे हैं। किसान की पीड़ा सुनने वाला कोई नहीं है। उन्होंने कहा कि किसानों की लड़ाई हर हालत में लड़ी जाएगी।

जयंत के धरने पर बैठने से झुका मिल प्रबंधन

हजारों किसानों के साथ तितावी चीनी मिल पर रालोद महासचिव जयंत चौधरी के धरने पर बैठ जाने के बाद जिला प्रशासन ने गन्ना मूल्य भुगतान की घोषणा कर दी। दस करोड़ का भुगतान सोमवार को ही गन्ना समितियों को भेज दिया।

15 अप्रैल तक किसानों का बीते सत्र समस्त 60 करोड़ रुपये भुगतान का वायदा किया गया है। 21 अप्रैल से नए सत्र के गन्ना मूल्य भुगतान शुरू करने की घोषणा की गई। इसके बाद रालोद का धरना समाप्त हो गया।

रालोद नेता जयंत चौधरी ने हजारों किसानों की भीड़ के बीच कहा कि गन्ना भुगतान कराना धर्मयुद्ध है। इस धर्मयुद्ध में वह आरपार की लड़ाई लड़ने आए हैं। किसानों का भुगतान होने तक रालोद कार्यकर्ताओं के साथ धरने पर बैठेंगे।

जयंत चौधरी की घोषणा से जिला प्रशासन के अधिकारियों और मिल प्रशासन में हड़कंप मच गया। एडीएम प्रशासन मनोज सिंह और जिला गन्ना अधिकारी ओमप्रकाश यादव ने किसानों बीच जाकर घोषणा की कि चीनी मिल दस करोड़ का भुगतान आज ही कर रहा है। बीते सत्र का समस्त भुुगतान 15 अप्रैल तक हो जाएगा। 21 अप्रैल से नए सत्र का भुगतान शुरू कर दिया जाएगा।

इस पर जयंत चौधरी ने किसानों से पूछा कि क्या वह जिला प्रशासन की घोषणा से संतुष्ट हैं। किसानों ने अधिकारियों पर विश्वास जताया। जयंत चौधरी ने कहा कि इस फैसले पर उनकी नजर है। यदि 15 अप्रैल तक बीते सत्र का समस्त 60 करोड़ का भुगतान नहीं हो जाता तो लड़ाई फिर शुरू कर दी जाएगी।

रालोद नेता त्रिलोक त्यागी, एमएलसी मुश्ताक अहमद, बाबा सूरजमल, रामपाल सिंह, पूर्व मंत्री योगराज सिंह, धर्मवीर बालियान, पूर्व विधायक राजपाल बालियान, जिलाध्यक्ष अजीत राठी, सुधीर भारतीय, अवनीश चौधरी, ब्लाक प्रमुख अनुज बालियान आदि ने विचार रखे। जिला प्रशासन की घोषणा के बाद धरना समाप्त कर दिया गया।

News Link : http://www.amarujala.com/uttar-pradesh/muzaffarnagar/jayant-chaudhary-in-muzaffarnagar

Latest News
05 April 2016

तितावी मिल पर रालोद का धरने पर पहुंचे जयंत चौधरी

Jayant Chaudhary

शुगर मिलो द्वारा गन्ना किसानों का बकाया भुगतान ना मिलने की वजह से बदहाली का जीवन जीने को मजबूर किसानों के लिए अब रालोद ने आर पार की लड़ाई लड़ने का मन बना लिया है जिसके चलते जनपद मुज़फ्फरनगर की की तितावी शुगर मिल धरने पर बैठे रालोद कार्यकर्ताओ और किसानों के बीच रालोद महासचिव और युवा नेता जयंत चौधरी पहुंचे

धरने पर पहुंचे जयंत चौधरी ने मीडिया से रूबरू होते हुए कहा कि मुज़फ्फरनगर की गन्ना नगदी फसल है देश में ये बहुत बड़ी समस्या है की जिन लोगो की सरकार बनी है जो लोग ताकतवर वो अपने हिसाब से निति बनाते है ये जो आम आदमी पीस रहा है इसकी कोई आवाज नही उठा रहा है सबसे बड़ी समस्या है जब तक किसान तरक्की नही करेगा तब तक देश नही बढ़ सकता है इनका दो साल का पेमेंट नही हुआ इतने बुरा हालात है चीनी के भाव में उछाल आ गया है देश में इतना बड़ा बवाल हो रहा है विजय माल्या नामक शख्स 9 हज़ार करोड़ रूपये खा कर भाग गए यहा 8 हज़ार करोड़ तो इसी सत्र का बकाया चल रहा है वो किसानो का है किसानो ने इन्हें कर्ज नही दे रखा है ये किसान का हक है कानून में प्रावधान था की 14 दिन में पेमेंट होना चाहिए वरना ब्याज दो हमारी सरकार ने पहला काम किया की इनका ब्याज माफ़ करो फिर रेट घटा दिया की 280 देंगे लेकिन आज नही देगे 230 मिलेगा।50 रूपये का हिसाब नही कब मिलेगा।प्रधानमन्त्री जी जो मेरठ में कहकर गए थे की 14 दिन में पेमेंट होता है  गुजरात में पेमेंट होता है 400 रूपये का रेट मिलना चाहिए आज क्यों मोन है वे प्रधानमंत्री जो विजय माल्या के मामले में दबाव में आकर ये ब्यान दिया की अगर बैंक का कोई पैसा लेगा उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही होगी।किसान का पैसा लेकर जो ऐश कर रहे है मिल मलिक के खिलाफ एक शब्द ना तो केंद्र सरकार द्वारा कहा गया ना ही प्रदेश सरकार द्वारा कहा गया है।

आपको बता दे कि अकेले जनपद मुज़फ्फरनगर की सभी आठो शुगर मिलो पर किसानों का लगभग 700 करोड़ रुपया बकाया है मगर इसमें केवल तितावी शुगर मिल ऐसा है जिस पर किसानों का लगभग 200 करोड़ रुपया बकाया है इस मिल पर ये बकाया लम्बे समय से चला आ रहा है जिससे परेशान रालोद ने 1 अप्रैल से तितावी शुगर मिल पर अनिश्चित काल के लिए धरना चल रहा है जिसका आज यानि सोमवार को चौथे दिन जयंत चौधरी पहुंचे जिन्होंने किसानों की दुर्दशा का ठींकरा उत्तर प्रदेश और केंद्र सरकार पर फोड़ते हुए दोनों सरकारों को इसका जिम्मेदार ठहराते हुए आर पार की लड़ाई लड़ने का एलान किया है।

धरने पर रालोद के पश्चिमी उत्तर प्रदेश अध्यक्ष मुंशी राम पाल पूर्व सांसद, त्रिलोक त्यागी , राजकुमार सांगवान, राजपाल बालियान पूर्व विधायक, जोगराज सिंह पूर्व मंत्री, धर्मवीर बालियान पूर्व मंत्री, रतन पाल पंवार पूर्व विधायक , बलबीर सिंह मलिक पूर्व विधायक, श्रीमती मिथलेश पाल पूर्व विधायक, राजेंद्र शर्मा पूर्व विधायक, बाबू राम पूर्व विधायक,  अजय तोमर पूर्व विधायक,  श्रीमती रमा नागर पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष , तरसपाल मलिक पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष, मुस्ताक चौधरी विधान परिषद् सदस्य , बीरपाल राठी विधायक छपरौली, अजित राठी जिला अध्यक्ष मुज़फ्फरनगर, रणवीर राझड़ जिला अध्यक्ष शामली, अवनीश चौधरी सदस्य जिला पंचायत, अनुज बालियान ब्लाक प्रमुख शाहपुर,  देशराज भनेडा सदस्य जिला पंचायत शामली, सुधीर भारतीय, रंधावा मलिक, राजेश्वर दत्त त्यागी, संजय राठी सदस्य जिला पंचायत, श्रीराम तोमर, योगेन्द्र चैयरमेन, अनवार टपराना,  अंजू शर्मा , रामकुमार वर्मा, हर्ष राठी, विकास बालियान सहित रालोद कार्यकर्ताओ के साथ साथ हज़ारो किसानो ने भाग लिया।

News Link : http://www.royalbulletin.com/2016/04/04/41407/

Press Releases

रालोद महासचिव जयन्त चौधरी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिख यमुना प्राधिकरण के गठन की मांग की

राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व सांसद श्री जयन्त चौधरी ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर यमुना को स्वच्छ बनाने के लिए प्रभावी कदम उठाने की मांग की है। उन्होंने प्रधानमंत्री से यमुना प्राधिकरण के गठन एवं कुशल व पारदर्शी संचालन के लिए सरकार द्वारा संसद में बिल पेश करने की मांग की है।

Read more...

Live video chat with Shri Jayant Chaudhary, MP (LS)

मथुरा से लोकसभा सांसद व राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय महासचिव श्री जयन्त चौधरी अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों से 9 मार्च 2014 को गूगल हैंगआउट के माध्यम से लाइव वीडियो चैट करेंगे। इस सांसद विकास संवाद नामक पारस्परिक वार्तालाप सत्र का उद्देश्य स्थानीय लोगों को उनके प्रतिनिधि के नजदीक लाना है।

Read more...

सांसद जयन्त चौधरी ने नई तहसीलों की मांग की

राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय महासचिव एवं लोकसभा सांसद श्री जयन्त चौधरी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को पत्र लिखकर प्रदेश में मथुरा जनपद में गोवर्धन, आगरा जनपद में अकोला तथा गाजियाबाद जनपद में लोनी को तहसील का दर्जा दिलाने की मांग की है। Read more...

top